हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

इस वजह से बढ़ रही है भारतीय ऑर्गेनिक प्रोडक्ट की ग्लोबल मांग

ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स का निर्यात 515 मिलियन डॉलर रिकॉर्ड किया गया है जिसमें 39 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिल रही है।

By Content Writer
इस वजह से बढ़ रही है भारतीय ऑर्गेनिक प्रोडक्ट की ग्लोबल मांग

ऑर्गेनिक क्षेत्र में भारत का विकास देखने योग्य है। वर्तमान में, भारत वैश्विक क्षेत्र में एक बड़े दिग्गज़ के रूप में उभर रहा है। यह 20 से ज्यादा देशों में 20 अलग-अलग श्रेणियों में 300 से ज्यादा प्रोडक्ट निर्यात कर रहा है। रिसर्च के अनुसार, भारतीय ऑर्गेनिक खाद्य प्रोडक्ट की मांग वैश्विक स्तर पर बढ़ रही है। ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स का निर्यात 515 मिलियन डॉलर रिकॉर्ड किया गया है जिसमें 39 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिल रही है।
इसके अतिरिक्त, भारत दुनिया में सबसे ज्यादा ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स को निर्यात करने वाला सबसे बड़ा निर्यातक बन रहा है और चीन के बाद एशिया में भारत दूसरा सबसे बड़ा ऑर्गेनिक प्रोडक्ट का निर्यातक है। निर्यात बाजार का विकास और सरकार की मदद, इन दोनों ने मिलकर भारत में ऑर्गेनिक कृषि को बेहद सफल बना दिया है।

ऑर्गेनिक बाजार के प्रमुख कारक

शहरी जनसंख्या के बढ़ने से प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि हुई है। इसे खरीदने की क्षमता के साथ-साथ जीवनशैली और खानपान की आदतों में भी बदलाव आया है। शहरी उपभोक्ता ऑर्गेनिक खाद्य प्रोडक्ट्स के लिए ज्यादा कीमत चुकाने के लिए भी तैयार हैं।

ऑर्गेनिक प्रोडक्ट की श्रेणी के अंतर्गत जिनकी सबसे ज्यादा मांग है, वे तिलहन, अनाज और बाजरा, चीनी, फलों का रस, चाय, मसाले, दालें, मेवे, औषधीय पौधे के प्रोडक्ट आदि हैं। ऑर्गेनिक प्रोडक्ट के सबसे बड़े खरीदार - यूएसए, कनाडा, इज़राइल, वियतनाम, मैक्सिको आदि है।

रासायनिक उर्वरकों से दूरी

हाल के कुछ वर्षों में ग्राहकों में स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता बड़ी है। उन्होंने अब पौष्टिकता को महत्व देना शुरू कर दिया है और साथ ही अपने खाने वाली चीजों की क्वालिटी पर भी नज़र रखते हैं। इसलिए ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थो की खपत में वृद्धि हुई है।

दुनिया भर में ऑर्गेनिक प्रोडक्ट की मांग निरंतर बढ़ती जा रही है क्योंकि ग्राहक अब रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों का प्रयोग किए हुए प्रोडक्टस से दूरी बना रहे है।

सरकारी सहायता

भारत सरकार देश में ऑर्गेनिक कृषि और ऑर्गेनिक खाद्य की खपत को बढ़ावा दे रही है। केन्द्रीय क्षेत्र योजना के तहत जो किसान ऑर्गेनिक कृषि अपना रहे हैं, उन्हें सरकार आर्थिक मदद उपलब्ध करा रही है।

तकनीकी विकास

ऑर्गेनिक फूड इंडस्ट्री के लिए निजी कंपनियों द्वारा नई तकनीक जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इमेजिंग और नवीन ऊर्जा का विकास किया गया है। नवीनता जैसे ताजा उपज के लिए सोलर पावर से चलने वाले कोल्ड स्टोरेज या हाइपर स्पेक्ट्रल कैमरा जिससे प्रोडक्ट की क्वालिटी और उम्र में विस्तार हो सके आदि ऑर्गेनिक क्षेत्र में आने वाली बहुत सी चुनौतियों से निपटने में मदद कर सकती हैं।

टिप्पणी
संबंधित अवसर
  • Kids Entertainment Zones
    About Us: Little Kickers is UK’s biggest and most successful pre-school..
    Locations looking for expansion Oxon
    Establishment year 2002
    Franchising Launch Date 2002
    Investment size Rs. 5lac - 10lac
    Space required -NA-
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater Blewbury Oxon
  • Quick Service Restaurants
    To own a business in food & beverages industry, Chick..
    Locations looking for expansion Tamil Nadu
    Establishment year 2009
    Franchising Launch Date 2013
    Investment size Rs. 5lac - 10lac
    Space required 100
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater Salem Tamil Nadu
  • Home Furnishings
    About: Ambreh is backed by Aalidhra Techtex Pvt. Ltd. that owns..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 1989
    Franchising Launch Date 2017
    Investment size Rs. 30lac - 50lac
    Space required 500
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • Designer Wear
    About : Started in 2014, H&S sources its fabric from Italian..
    Locations looking for expansion Maharashtra
    Establishment year 2014
    Franchising Launch Date 2017
    Investment size Rs. 50lac - 1 Cr.
    Space required 1000
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Mumbai Maharashtra
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts