हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

फॉरेन लैंग्वेज स्कूल व्यवसाय में निवेश करने का ये है सही समय

आश्चर्यजनक ढंग से बढ़ती प्रतिस्पर्धा ने वैश्विक भाषाओं के ज्ञान की जरूरत को बढ़ा दिया है।

By Jr. Writer
फॉरेन लैंग्वेज स्कूल व्यवसाय में निवेश करने का ये है सही समय

विकास करती शिक्षा इंडस्ट्री ने बहुत प्रकार के ट्रेंड देखे हैं जिसने भारतीय शिक्षा इंडस्ट्री को बदल दिया है। विदेशी भाषाओं की बढ़ती मांग उन्हीं में से एक है। बढ़ती प्रतिस्पर्धा की वृद्धि के साथ, शिक्षकों ने कोचिंग और स्कूल की शुरुआत की है जो शिक्षार्थियों को विदेशी भाषाएं सीखने के सुविधा देती है।

विदेशी भाषा स्कूल/सेंटर में होती वृद्धि

शिक्षक इस बात का ध्यान रख रहे हैं कि भारतीय शिक्षा तंत्र वैश्विक स्तर पर हो रही गतिविधियों के साथ कदम से कदम मिला कर चल सके।इसी कारण बहुत से उद्यमियों ने इस इंडस्ट्री में कदम रखा और विदेशी भाषा सेंटर/स्कूल को स्थापित करने का विचार किया।

वर्तमान में नए ब्रांड उभर रहे हैं जो रूचि रखने वाले शिक्षार्थियों को विदेशी भाषा के कोर्स दे रहे हैं। यह एक ऐसा शिक्षा का ट्रेंड है जो बहुत जल्दी नहीं जाने वाला है और शिक्षक इस मांग पर पर बहुत अच्छी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं।

क्यों सही समय है निवेश का?

उभरते भारतीय युवा जनसंख्या द्विभाषी होने में विशेष रूचि दिखा रहे हैं। विदेशी भाषा सीखने की अवधारणा हमेशा से उपयोगी साबित हुई है।एक तो यह भाषाई कौशल प्रदान करती है और दूसरा ये विभिन्न संस्कृतियों और जीवनशैलियों को जानने में शिक्षार्थियों को कुशल बनाती है।

इंस्टीट्यूटो हिस्पानिया के डायरेक्टर जनरल लॉरा बैनिटो ने कहा, 'भारतीय शिक्षा इंडस्ट्री विश्व स्तर पर अपनी उपस्थिति को चिन्हित कर रहा है और अब ये शिक्षा के लिए सबसे अच्छी जगह बन गया है। वर्तमान में विदेशी भाषाओं की बढ़ती मांग ने हमारे जैसे बहुत से ब्रांड के लिए भारतीय बाजार में दरवाजे खोले हैं जो बेहतरीन विदेशी भाषा संबंधी शिक्षा प्रदान कर सकें।' अब स्कूल के अलावा विदेशी भाषाएं ज्यादातर कॉर्पोरेट सेक्टर में जरूरी हो गई है। ब्रांड की विश्व स्तर पर पहचान बनाने के लिए भाषा ज्ञान को जरूरी माना जा रहा है।

इसलिए यदि आप इस शिक्षा इंडस्ट्री में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो विदेशी भाषा इंस्टीट्यूट की स्थापना करना आपके लिए एक उपयुक्त विकल्प हो सकता है।

रोजगार के अवसरों को बनाना

शिक्षक बहुत से रोजगार के अवसरों को निर्माण कर सकता है, जो छात्रों और कर्मचारियों को प्रतियोगिता में अलग से खड़ा कर करता है। विदेशी शिक्षा व्यवसाय से शिक्षक मन में जोश रखने वालों के लिए अवसर बना सकता है। ये उनके बीच के मतभेदों को भूलने और विस्तृत ज्ञान के सकारात्मक ढांचे को बनाने में मदद करेगा।

टिप्पणी
संबंधित अवसर
  • Quick Service Restaurants
    About Us:  Inspired by Hong Kong's favorite street food the..
    Locations looking for expansion Maharashtra
    Establishment year 2017
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 250
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Mumbai Maharashtra
  • Others Food Service
    About Us: Let's Meat is an innovative brand from Jaipur which..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2017
    Franchising Launch Date 2017
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 200
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • About Us: Credence International Schools is a K-12 Venture of Credence..
    Locations looking for expansion Maharashtra
    Establishment year 2012
    Franchising Launch Date 2014
    Investment size Rs. 2 Cr. - 5 Cr
    Space required 20000
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Mumbai Maharashtra
  • Computer Hardware & IT
    About Us: Relops Services Pvt. Ltd. - Start a business in..
    Locations looking for expansion Haryana
    Establishment year 2014
    Franchising Launch Date 2015
    Investment size
    Space required -NA-
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type -NA-
    Headquater Faridabad Haryana
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts