हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities
शिक्षा 2018-12-27

शिक्षा ट्रेंड के रूप में उभर रहा है कर्मचारी शिक्षा कार्यक्रम

अपने कर्मचारी को उसकी शिक्षा जारी रखने के लिए सहायता देना आपके ब्रांड का उनके प्रति चिंता प्रकट करता है।

By Features Writer
शिक्षा ट्रेंड के रूप में उभर रहा है कर्मचारी शिक्षा कार्यक्रम

शिक्षा लगभग हर व्यवसाय क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण किरदार निभाती है। यह किसी बच्चे के सुनहरे भविष्य के लिए उसके ज्ञान को पोषित और विकास करती है। दूसरी तरफ, यह कर्मचारी को बेहतर अवसर देने में भी मदद करती है।

इसके साथ ही यह कर्मचारी के कंपनी छोड़कर दूसरी जगह जाने की संख्या को भी कम करती है। इसके परिणामस्वरूप कर्मचारी के छोड़कर जाने से होने वाले खर्च में भी कमी आती है। निरंतर शिक्षा किसी भी कंपनी मालिक के लिए बहुत बड़ा निवेश है। इससे व्यवसाय और कर्मचारी को बहुत से तरीकों से लाभ पहुंचता है। यह एक अतिरिक्त पाठ्यक्रम की तरह लगता है लेकिन इसका लाभ लंबे समय तक मिलता है। कुछ मालिकों को लगता है कि यह पैसे की बर्बादी है क्योंकि संगठन सामान्य तौर पर अपने कर्मचारियों को आवश्यक ट्रेनिंग देती है। जबकि, कई इस कदम की महत्ता को समझते हैं क्योंकि ये उनके व्यवसाय के विकास को बढ़ा सकता है।

प्रदर्शन को सुधारता

फ्रैंचाइज़र के लिए निरंतर शिक्षा प्रोग्राम शुरू करने का मुख्य कारण संगठन के लाभ के लिए उठाया गया कदम है। यह कर्मचारी की कुशलता को सुधारता है और वह नए ट्रेंड के साथ हाथ से हाथ मिलाकर चल पाता है। लगातार आती नई तकनीकों की बाढ़ में आपके कर्मचारियों के लिए ये बहुत जरूरी है कि उन्हें इन नई तकनीकों से अवगत करवाया जाए।

कर्मचारी में टिके रहने की भावना

एक कर्मचारी जिसे अपने वर्तमान संगठन में अपना कोई विकास नहीं दिखता है वह संगठन बदलने के पक्ष में होता है। एक फ्रैंचाइज़र होने के नाते, यह डर बहुत ही सामान्य है और इस डर से निपटने के लिए निरंतर शिक्षा प्रोग्राम को अपने संगठन में लाना जरूरी है। निरंतर शिक्षा को महत्व देने से यह प्रदर्शित होता है कि कंपनी अपने कर्मचारी को महत्व देती है। इसके परिणामस्वरूप ये कर्मचारी को टिके रहने की भावना को सुधारता है जो कमचारियों के बार-बार जाने से होने वाले खर्च को भी कम करने में मदद करता है।

सही संस्कार

कर्मचारी शिक्षा के धनी होते हैं और एक ऐसे वातावरण को बनाने में मदद करते हैं जो हमारी संस्कृति से सही मेल खाती है। इस सफलता को प्राप्त करने के लिए आप अपने स्टाफ की मदद ले सकते हैं जहां आपके मैनेजर महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। वे कर्मचारियों का मार्गदर्शन करेंगे कि ट्रेनिंग और विकास के जरिए कैसै वे अपनी संस्कृति की सहायता कर सकते हैं।

टिप्पणी
image
संबंधित अवसर
  • Language Schools
    About Us: The British Institute of Engineering Technology (I) Pvt Ltd (BIET), London..
    Locations looking for expansion West bengal
    Establishment year 1950
    Franchising Launch Date 1992
    Investment size Rs. 2lac - 5lac
    Space required 500
    Franchise Outlets 50-100
    Franchise Type Unit
    Headquater Amherst street West bengal
  • About Us: Shri Balaji International Institute of Forein languages (SBIIFL) is..
    Locations looking for expansion New Delhi
    Establishment year 2005
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 50lac - 1 Cr.
    Space required 600
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater South West Delhi New Delhi
  • Fine Dine Restaurants
    About Us: Launched in 2013, Biryani Blues is Delhi NCR’s largest..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2013
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 30lac - 50lac
    Space required 750
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • About Us: An award-winning institution located in New Delhi’s Punjabi Bagh,..
    Locations looking for expansion New Delhi
    Establishment year 2008
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 20lac - 30lac
    Space required 3000
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Delhi New Delhi
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts