हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

एज्युकेशनल टॉय क्षेत्र में उभरते ट्रेंड्स

एज्युकेशनल टॉय मार्केट, खिलौना बाजार का सबसे बड़ा उत्पाद का हिस्सा है।

By Content Writer
एज्युकेशनल टॉय क्षेत्र में उभरते ट्रेंड्स

बच्चे खेलते वक्त जल्दी सीखते है और एज्युकेशनल टॉय बच्चों में खेलने का रस पैदा करते है। वैश्विक शैक्षणिक खिलौना बाजार करीब 10% के CAGR पर बढ़ने की उम्मीद है। इन खिलौनों में गणित और विज्ञान किट, भाषा सीखने के खिलौने, और अन्य खिलौने शामिल हैं, जो आयु वर्ग के अनुसार बच्चों के बीच बुनियादी और उच्च ज्ञान को बढ़ाते है।

एज्युकेशनल टॉय सेक्टर में हाल में प्रवर्तक ट्रेंड्स नीचे दिए गए है।

आर्किटेक्चरल खिलौने

एक नए प्रकार के स्टैकिंग खिलौनो को पेश किया गया है जो आधुनिकतावादी आर्किटेक्चर से प्रेरित है। इन खिलौनों को रीसाइकल्ड कार्डबोर्ड के टुकड़ों से बनाया जाता है, जिसमें विभिन्न इमारतों के डिजाइन से प्रेरित रंगीन प्रिंट होते है। ये आधुनिकतावादी आर्किटेक्चरल खिलौने पहले से कटे हुए और मोडे हुए होते है, ताकि ग्लू या कैंची की आवश्यकता के बिना असेंबली संभव हो। यह बच्चों को प्रसन्न करेगा और उनके आर्किटेक्चरल कौशल को विकसित करने में भी सहायक होगा।

विज़ुअल प्रोग्रामिंग खिलौने

रोबोट के खिलौने बच्चों के लिए नवीनतम खेल का साधन हैं, जो सीखने के साथ-साथ चीजों को अधिक मजेदार और इंटरैक्टिव बनाते हैं। ये खिलौने एक प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस का उपयोग करते हैं ताकि उपयोगकर्ता रोबोट को चलाने के लिए आदेशों को इनपुट कर सकें। यह कहानी कहने पर भी ध्यान केंद्रित करता है ताकि बच्चों को उपकरण देने की बजाए कोडिंग जारी रखने और उन्हें खेलना जारी रखने में मदद मिल सके।

पर्यावरण अनुकूल

एज्युकेशनल खिलौनो के उद्योग में कच्चे माल से संबंधित सुरक्षा के मुद्दों पर विचार करते हुए, कई माता-पिता, शिक्षक और विक्रेता तेजी से पर्यावरण अनुकूल एज्युकेशनल खिलौनों का चयन कर रहे हैं, जिन्हें आम तौर पर ग्रीन टॉय कहा जाता है। निर्माता तेजी से टिकाऊ उत्पाद विकास का चयन कर रहे हैं, क्योंकि ये उत्पाद पर्यावरण को कम नुकसान पहुंचाते है। इन खिलौनों से न केवल स्थिरता में वृद्धि होगी बल्कि छात्रों को पर्यावरण के विषय में सोचने पर भी प्रेरित किया जा सकेगा ।

स्टेम/स्टीम टॉयस

एज्युकेशनल खिलौनो को S.T.E.A.M ( साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग, आर्ट्स, और मैथ्स) या S.T.E.M. ( साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथ्स) टॉयस के रूप में कहलाने का दौर चल रहा है। बच्चे बचपन से ही स्टेम में रुचि रखे उसके लिए हर माता-पिता उत्सुक होते है।पिछले कुछ सालों से स्टेम/स्टीम खिलौने मुख्य धारा में हैं| ये बच्चों को विभिन्न तरीकों से व्यस्त रखते है और नई टेक्नोलॉजी से जोड़ रहे है।

टिप्पणी
संबंधित अवसर
  • About Us: Ethix Industries takes great pride and happiness to introduce our..
    Locations looking for expansion Tamil nadu
    Establishment year 2000
    Franchising Launch Date 2012
    Investment size Rs. 2lac - 5lac
    Space required 200
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Chennai Tamil nadu
  • About Us: C.H.I.L.D an initiative of Mrs. Kavitha Chandra Mouli hasa..
    Locations looking for expansion Tamil nadu
    Establishment year 2013
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 5lac - 10lac
    Space required 1500
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Chennai Tamil nadu
  • Pharmacies
    About Us: |Reliable, Experienced, Trusted pharma product provider| The most trusted name..
    Locations looking for expansion New Delhi
    Establishment year 2006
    Franchising Launch Date 2015
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 200
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater New Delhi New Delhi
  • EuroKids pre-schools in 2001 with the idea of providing a..
    Locations looking for expansion Maharashtra
    Establishment year 1997
    Franchising Launch Date 2001
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 150
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater Mumbai City Maharashtra
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts