हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

2021 तक भारत में ई-कॉमर्स के लिए ग्रामीण बाजार 10-12 बिलियन यूएस डॉलर होगा: ईवाई रिपोर्ट

2017 से 2021 तक ई-कॉमर्स की कुल बिक्री 32% की सालाना वृद्धि दर से बढ़ने की संभावना है।

By Senior Sub-editor
2021 तक भारत में ई-कॉमर्स के लिए ग्रामीण बाजार 10-12 बिलियन यूएस डॉलर होगा: ईवाई रिपोर्ट

यह अनुमान लगाया गया है कि ग्रामीण ई-टैल बाजार अगले चार वर्षों में ई-कॉमर्स फर्मों के लिए 10-12 बिलियन यूएस डॉलर कमाने का अवसर पेश कर सकता है। रूरल ई-कॉमर्स की ईवाई रिपोर्ट के अनुसार, लोगों के बीच बढ़ती आय उनके खर्च करने की क्षमता अलग-अलग तरह से कमाई के तरीके, गैर-कृषि गतिविधियां, सकारात्मक कृषि दृष्टिकोण, इंटरनेट में वृद्धि, खर्च करने की उच्च प्रवृत्ति और ग्रामीण भारत में एकल परिवारों की बढ़ती संख्या और बढ़ती घरेलू आय के कारण इसे जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रामीण भारत में मांग विशिष्ट है और इसके लिए पर्याप्त स्थानीयकरण की जरूरत होगी। जबकि ग्रामीण ग्राहक ब्रांडेड प्रोडक्ट्स के मालिक होने की इच्छा रखते हैं लेकिन वो अधिक पैसे खर्च करने में थोड़ा हिचकिचाते हैं। इसलिए, कंपनियों को उनके प्रोडक्ट में संतुलन बनाने की आवश्यकता होती है। इसमें मूल्य-के-पैसे, नॉन-ब्रांडेड वस्तुएं और ब्रांडेड उत्पाद दोनों शामिल होते हैं जो उनकी इच्छाओं को पूरा करते हैं।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि ग्रामीण बाजारों में आकर्षण हासिल करने के लिए कंपनियों को अपने व्यापार मॉडल पर पुनर्विचार करना होगा और मांग उत्पादन, आपूर्ति और सेवाओं के नवीनीकरण पर ध्यान देना होगा।

कंपनियों को क्या करना चाहिए?

वित्तीय संगठनों के साथ साझेदारी करके क्रेडिट की आसान लाइन प्रदान करें जो सूक्ष्म उधार देने में मदद करेगी, दोनों व्यवसायों और ग्रामीण ग्राहकों को इससे मदद मिलेगी। ग्राहकों के बीच जागरुकता और विश्वास पैदा करने के लिए मौजूदा सामाजिक संरचना और आधारभूत संरचना पर ध्यान देना जरूरी है। ग्रामीण उपभोग्ताओं के बीच अपना सामान पहुंचाने के लिए ब्रांडेड तथा नॉन-ब्रांडेड और प्राइवेट लेबल के बीच हर  जानकारी को सही से प्राप्त करना चाहिए जिससे आपको मदद मिलेगी।

विशेषज्ञों की राय

ई-कॉमर्स एंड कंज्यूमर इंटरनेट, ईवाई इंडिया के राष्ट्रीय नेता अंकुर पहवा का कहना है कि ग्रामीण ऑनलाइन खुदरा व्यापार महत्वाकांक्षी ग्रामीण भारत के लिए स्पष्ट और बेहतरीन उम्मीद है। हालांकि, सफलता उन ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए आएगी जो लगातार उपभोक्ताओं के लिए कुछ नया करते हैं, खासकर उन उपयोगकर्ताओं के साथ जो ऑनलाइन हैं लेकिन इंटरनेट पर लेन-देन नहीं कर रहे हैं या केवल विशिष्ट सेवाओं का  लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन चैनलों का उपयोग करते हैं। ई-कॉमर्स कंपनियों को नवीनीकरण पर ध्यान देना चाहिए जिससे ग्रामीण उपभोग्ताओं के बीच अपना विश्वास बना सके और उत्पाद क्यूरेशन के साथ उन्हें सब मुहैया करा सके।

टिप्पणी
image
संबंधित अवसर
  • Others Dealers And Distributors
    Oswaal Books is India’s fastest growing publishing house, started by..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 1984
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 5lac - 10lac
    Space required -NA-
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • Womens Wear
    About Us: Women fashion is the fastest growing sector, our stores..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2015
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 20lac - 30lac
    Space required 400
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • Bakery & Confectionary
    About Us: Franchise Partners Invited..A Fast Growing Bakery Chain!! “Sin Bakes and..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2018
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 110
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Delhi Delhi
  • About Us: Since 1931, Arvind has been the leader in fabric..
    Locations looking for expansion Gujarat
    Establishment year 2010
    Franchising Launch Date 2010
    Investment size
    Space required 700
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type MultiUnit
    Headquater Kalol Gujarat
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts