हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

भारत में बढ़ रहा है QSR फ्रैंचाइज़, जानें कारण

व्यंजनों की आसानी से उपलब्धता और आर्थिक कारण ने डाइनर यानी खाने के शौकीन लोग अब अपनी पसंद को बहुत प्राथमिकता देने लगे हैं।

By Features Writer
भारत में बढ़ रहा है QSR फ्रैंचाइज़, जानें कारण

पहले भारतीय लोग कुछ खास अवसरों पर ही रेस्टोरेंट या बाहर जाकर खाना पसंद करते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है। आज के समय में अपने परिवार और दोस्तों के साथ बाहर जाकर खाना खाना बहुत ही आम बनता जा रहा है। बाहर खाने की वजह समय बचाने, अनुभव पाने के लिए या खाने के लिए उनका प्यार हो सकती है। ग्राहक, खासतौर पर युवा वर्ग क्विक सर्विस रेस्टोरेंट (QSR) सेगमेंट की ओर अपना झुकाव दिखा रहे हैं जिसकी वजह से इनका विकास तेजी से हो रहा है।

केपीएमजी के हाल की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय फूड इंडस्ट्री चार सेगमेंट से मिलकर बना है जिसमें फुल-सर्विस रेस्टोरेंट और QSR मिलकर कुल रेस्टोरेंट इंडस्ट्री का 73 प्रतिशत के करीब का आंकडा है।

यह अनुमान लगया जा रहा है कि 2025 तक भारत के शहरी इलाकों में 530 मिलियन लोग बस जाएंगे जो QSR चेन के लिए आकर्षक अवसरों को आमंत्रण दे रहा है।

बाहरी कारण और डायनैमिक वातावरण

शहरीकरण के कारण प्रति व्यक्ति आय बढ़ रही है, डिजिटलाइजेशन, डिस्पोसेबल आय का बढ़ना और महिलाओं के कामकाजी होने के आंकड़े का बढ़ना ऐसे बहुत से कारण हैं जिसकी वजह से QSR इंडस्ट्री इतनी तेजी से बढ़ रही है।

अमाल्फी कैफे के मालिक अंगद बत्रा का कहना है, 'लोग रेस्टोरेंट में ईमानदारी से बना अच्छा खाना खाने के लिए आते हैं। यहीं मेरी यूएसपी है।लोगों को खाना पूरी ईमानदारी से देना और उन्हें एक अलग अनुभव कराना ही हमारी एकमात्र प्राथमिकता है।'

ग्राहक का बदलता व्यवहार

फूड आउटलेट के स्तर में सुधार के आधार पर माहौल, सफाई, आसानी से ऑर्डर देने की सुविधा और सर्विस ग्राहक के दिमाग में तुरंत रूचि को प्रभावित करता है और QSR के फुटफॉल को बढ़ाता है। QSR भारतीयों को पश्चिमी व्यंजनों को भी आसानी से उपलब्ध करने में मदद करता है।हालांकि भारतीय खाना हमेशा फूड रेस जीत जाता है फिर भी व्यंजन जैसे चाइनीज, मैक्सिकन, इटेलियन और अमेरिकन भी बराबर की लोकप्रियता पा रहें है क्योंकि ऐसे बहुत से उत्सुक ग्राहक है जो अपने स्वाद के साथ कुछ नया करने के इच्छुक हैं। भारतीय खाद्य इंडस्ट्री की क्षमता को देखते हुए बहुत से फ्रैंचाइज़र अपनी उपस्थिति को ब्रांड के तौर पर बनाने के लिए QSR सेगमेंट में प्रवेश करते दिख सकते हैं।

भविष्य

फूड इंडस्ट्री में बहुत कठिन प्रतियोगिता होने के बाद भी QSR इंडस्ट्री का विकास लगातार होता रहेगा। इसलिए QSR एक एवरग्रीन व्यवसाय है और अपने निवेशकों के लिए अद्भुत विकास को लिए हुए है।

टिप्पणी
संबंधित अवसर
  • Casual dine Restaurants
    Rang De Basanti Urban Dhaba A Contemporary Classic Dhaba With An..
    Locations looking for expansion West bengal
    Establishment year 2017
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 1 Cr. - 2 Cr
    Space required 2500
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Kolkata West bengal
  • About  THE KETTLERY (CPK Food and Beverages Pvt. Ltd.) An exclusive tea..
    Locations looking for expansion Gujarat
    Establishment year 2015
    Franchising Launch Date 2015
    Investment size Rs. 20lac - 30lac
    Space required 400 - 800 Sq.ft
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater Ahmedabad Gujarat
  • About Us: School of International Languages promises excellent learning atmosphere to..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 1982
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 800
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • Quick Service Restaurants
    About Us: Cafe social is focused on providing a safe and..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2017
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 200
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts