हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

टेलीकॉम इंडस्ट्री को प्रभावित कर रही हैं ये चुनौतियां

जो कंपनी मार्केट के अनुसार चल नहीं पाती वो दूसरे प्रतिभागियों और तेजी से बढ़ती हुई कंपनियों के आगे घुटने टेक सकती है।

By Features Writer
टेलीकॉम इंडस्ट्री को प्रभावित कर रही हैं ये चुनौतियां

निरंतर नवीकरण लोगों की संचार प्रक्रिया में बदलाव कर रहा हैं। इसलिए, दूरसंचार उद्योग को लोगों की उम्मीदों को पूरा करने के लिए फिर से रणनीति बनाने की जरूरत हैं।

आज, दूरसंचार फ्रैंचाइज़र को अपने साथ टेक्नोलॉजी को जोड़ना होगा और व्यवसाय में जो भी लेटेस्ट ट्रेंड्स हैं उनको अपने ग्रहाकों को उपलब्ध करवाना होगा ।

इसमें कोई शक नहीं कि यह दूरसंचार उद्योग के लिए एक सक्रिय होने के साथ-साथ अशांत समय है। इन तथ्यों को ध्यान में रखते हुए, फ्रैंचाइज़र को सावधानी से कार्य करना चाहिए ताकि वह मुनाफा कमा सके और साथ ही इंडस्ट्री से जुडी नई सेवाएं मुहैया करा सके।

अनुकूलन और विकास समाधान

प्रवृत्तियों और बढ़ते मुकाबले के साथ रहने के लिए परिवर्तन को अपनाना आवश्यक है। आज के समय में, उचित निवेश के माध्यम से एक उपयुक्त समाधान विकसित करना आपके दूरसंचार ब्रांड के भविष्य में सुधार करने में एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में उभर सकता है। जो कंपनी मार्केट के अनुसार चल नहीं पाती वो दूसरे प्रतिभागियों और तेजी से बढ़ती हुई कंपनियों के आगे घुटने टेक सकती है।

ओवर-द-टॉप कंपनियों के साथ मुकाबला

मोबाइल मैसेजिंग एप्लीकेशन के इस्तेमाल ने दूरसंचार उद्योग को एक बड़ी चुनौती दी हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 2.5 अरब लोग कम से कम अपने सेल फोन पर एक मोबाइल मैसेजिंग एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस वजह से दूरसंचार कंपनियों को नुकसान पहुंच रहा है जो 2007 से 2015 तक 34.5% घटकर 22.1% हो गया है।

अगर इसी तरह से चलता रहा तो जल्द ही टेक्स्ट मैसेजिंग पूरी तरह से खत्म हो जाएगा और ओटीटी कंपनियों को अवसर मिल सकते हैं।

इंटरनेट ऑफ थिंग्स का उदय (आईओटी)

आईओटी हमारे दिन-प्रतिदिन जीवन पर हमला कर रहा है। चीजों को तेजी से बदल रहा हैं। यह माना जाता है कि 2020 के अंत तक 21 अरब लोग इससे जुड़ जाएंगें।

दूरसंचार फ्रैंचाइज़र को एक मंच विकसित करके इस मुद्दे को हल करने पर ध्यान देना चाहिए जो इंटरनेट ऑफ थिंग्स के जैसा ही कार्य करने में समर्थ हो।

5जी का विकास

5जी 2020 तक भारत में उपलब्ध होने की उम्मीद है। विशेषज्ञों का मानना है की इससे सिर्फ गति में ही वृद्धि नहीं होगी, बल्कि क्षमता और विलंबता में भी सुधार होगा। इसके अलावा, इस वजह से असीमित कनेक्शंस होंगे और इसके तेज परिणाम भी देखने को मिलेंगे।

यह दौड़ दूरसंचार फ्रैंचाइज़र के लिए स्पष्ट रूप से चल रही है। जहां उन्हें बंद होने से पहले 5जी तकनीक विकसित करने की आवश्यकता है।

टिप्पणी
संबंधित अवसर
  • Mr. Bean's Pizza started its operations in Jaipur in 2013...
    Locations looking for expansion Rajasthan
    Establishment year 2013
    Franchising Launch Date 2013
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 330
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Jaipur Rajasthan
  • About Us: English Pillars Edu Comp is a registered ISO certified..
    Locations looking for expansion Punjab
    Establishment year 2002
    Franchising Launch Date 2017
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 500
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Amritsar Punjab
  • Gardening services
    About Us: Started in 2013, with a dream to convert concrete..
    Locations looking for expansion Rajasthan
    Establishment year 2013
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 200
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Jaipur Rajasthan
  • Tea and Coffee Chain
    About Us: The brand Chachago was created to raise public awareness..
    Locations looking for expansion Maharashtra
    Establishment year 2016
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 200
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Mumbai Maharashtra
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts