हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

भारतीय फुटवियर फ्रैंचाइज़ी के बारे में जानें ये जरूरी बातें

भारत को दुनिया में दूसरे नंबर की बड़ी फुटवियर इंडस्ट्री होने के नाते ग्लोबल एनुअल प्रोडक्शन का करीब 9 प्रतिशत आंका जा रहा है।

By Features Writer
भारतीय फुटवियर फ्रैंचाइज़ी के बारे में जानें ये जरूरी बातें

भारत हर साल 2.2 बिलियन फुटवियर के जोड़े तैयार करता है। जिसमें से 90 प्रतिशत का उपभोग देश में किया जाता है जबकि बाकी बचे 10 प्रतिशत को यूरोपियन देशों जैसे यूनाइटेड किंगडम, इटली, फ्रांस और अन्य देशों में निर्यात किया जाता है। भारतीय मुद्रा रेट में 20 प्रतिशत कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट से यह विकास कर रही है। वर्तमान में विदेशी देश भी भारतीय फुटवियर इंडस्ट्री में अपने विस्तार करने के लिए आंखे गढ़ाएं बैठे है। 71.5 बिलियन से बढ़कर 180 बिलियन तक भारत में उद्यमी/कारोबारी/इंडस्ट्रलिस्ट फुटवियर इंडस्ट्री में क्रांति ला रहे हैं।

नयापन

देश के आज के फेशन ट्रेंड को देखते हुए फुटवियर ब्रांड अब वेगन और शुद्ध चमड़े के प्रकारों को पेश कर रहे हैं। बहुत से निवेशक किफायती लग्जरी प्रीमियम फैशन सेगमेंट को दिमाग में ध्यान रखते हुए इस इंडस्ट्री में प्रवेश कर चुके हैं। मोडेलो डोमानी के मालिक आयुष दीवान ने बताया, 'हमारा नारा है हेप्पी फीट फॉर ऑल और अपने इस नारे के साथ हमने वेगन और शुद्ध चमड़े के प्रकारों को पेश किया है। यह इंडस्ट्री लगातार बदल रही है क्योंकि बहुत से नए फैशन ट्रेंड इस इंडस्ट्री में प्रवेश कर रहे हैं।'

मुख्य ट्रेंड

फुटवियर के चुनाव पर मौसम के फैशन का बहुत अधिक प्रभाव होता है। महिलाओं में डिजाइनर लेकिन आरामदायक फुटवियर की मांग या पुरूषों में एथलेटिक जूतों की मांग बढ़ रही है जिससे बहुत से जूते निर्माण करने वालों के लिए अवसर खुल गए हैं। लेकिन वर्तमान में, आराम एक ऐसा कारक है जो ग्राहक के फुटवियर खरीदने का प्रभावित करता है। फ्रैंचाइज़ अपने फुटवियर प्रोडक्ट में नयापन ला रहे हैं ताकि उन्हें ये स्टाइलिश के साथ-साथ आरामदायक भी बना सकें।

चुनौतियां

बाकी इंडस्ट्री की ही तरह फुटवियर इंडस्ट्री की अपनी कुछ चुनौतियां होती है। चुनौतियां जैसे समय पर डिलीवरी, ऊंचे रिटर्न, स्टॉक इंवेन्टरी, रेवेन्यू की कीमत आदि ऐसी ही कुछ चुनौतियां है जिनका सामना नियमित रूप से फुटवियर निवेशकों को करना पड़ता है। Whitesoul.in के संस्थापक मयुष कुकरेजा ने बताया, 'बहुत से वेयरहाउस और स्टोर का मैनेजमेंट देखना एक बड़ी चुनौती है जिसका सामना हमारे ब्रांड को करना पड़ता है। यह बहुत जरूरी है कि इन स्टोर को ठीक से व्यवस्थित किया जाएं ताकि स्टॉक का प्रयोग प्रभावी ढंग से किया जा सके।'

share button
टिप्पणी
user franchise india
emaili franchiseindia
mobile franchise india
address franchise india
franchiseindia star
संबंधित अवसर
  • Kids Entertainment Zones
    About Us: Little Kickers is UK’s biggest and most successful pre-school..
    Locations looking for expansion Oxon
    Establishment year 2002
    Franchising Launch Date 2002
    Investment size Rs. 5lac - 10lac
    Space required -NA-
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater Blewbury Oxon
  • Juices / Smoothies / Dairy Parlors
    About Us: Rasna – Mocktail Bar is a revolutionary venue that’s..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 1976
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 150
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New Delhi Delhi
  • Theme Restaurants
    About Us: The Chinese Club, located in the New York City,..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2018
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 1 Cr. - 2 Cr
    Space required 2000
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
  • Opticians/Eye Wear
    About Us: CVC Opticals is a fast-growing national chain of over..
    Locations looking for expansion Delhi
    Establishment year 2015
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 20lac - 30lac
    Space required 150
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater New delhi Delhi
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
tfw-80x109
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
email
mobile
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts

pincode
ads ads ads ads""