भारतीय स्पोर्ट्सवियर खेल रहे बड़ा खेल
हॉटलाइन: 1800 102 2007
हॉटलाइन: 1800 102 2007
Search Business Opportunities

भारतीय स्पोर्ट्सवियर खेल रहे बड़ा खेल

विशेषज्ञों के अनुसार, भारतीय एथलेटिक परिधान बाजार इस वर्ष $1.3 बिलियन मूल्य का उद्योग बन जाएगा। स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों की संख्या में अचानक भारी बढोतरी होने के कारण उद्योग की वृद्धि हो रही है।

By Feature Writer
भारतीय स्पोर्ट्सवियर खेल रहे बड़ा खेल

भारतीय स्पोर्ट्सवियर ब्रांड्स भारतीय बाजार में बड़ी छलांग मार रहे हैं और भारतीय स्पोर्ट्सवियर उद्योग पर राज करने वाले अन्तर्राष्ट्रीय ब्रांड्स को कड़ी चुनौती दे रहे हैं। अगर ब्रांड भारतीय हो, तो लोगों के लिए उससे यकीनन एक भावनिक मूल्य और जुड़ाव होता है, लेकिन अन्य भी कई घटक हैं, जो भारतीय स्पोर्ट्सवियर ब्रांड्स को अपनी ही भूमि में अव्वल होने में मदद करते हैं। आइए, इस उद्योग में वृद्धि और एक खास श्रेणी में उसके रूपांतरण के बारे में जानने की कोशिश करें।

विशेषज्ञों के अनुसार, भारतीय एथलेटिक परिधान इस वर्ष $1.3 बिलियन मूल्य का उद्योग बन जाएगा। स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों की संख्या में अचानक भारी बढोतरी होने के कारण उद्योग की वृद्धि हो रही है।

जिम्नैशियम, जॉगिंग ट्रैक्स और हेल्थ क्लब्ज की संख्या में भारी बढोतरी हुई है। क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों की बढ़ती लोकप्रियता ने भी भारतीय स्पोर्ट्सवियर इंडस्ट्री की वृद्धि में सहायता की है। इस वर्ष जनवरी में, सचिन तेंदुलकर ने ऑस्ट्रेलियाई खेल सामग्री और उपकरण कंपनी स्पार्टन स्पोर्ट्स इंटरनेशनल के साथ मिल कर अपने स्वयं के स्पोर्ट्सवियर और क्रिकेट सामग्री श्रेणी को बाजार में उतारा है। इसे नाम दिया गया है - सचिन बाइ स्पार्टन।

अगर हम फैशन उद्योग को बारीकी से देखते हैं, तो जिम या क्लब में जाते हुए स्पोर्ट्सवियर पहनना पसंद करने वाले युवाओं की संख्या अचानक बढ़ती हुई नजर आती है। उनकी इस पसंद के कारण भारतीय कंपनियों के टी-शर्ट्स, लोअर्स, शॉर्ट्स और जैकेट्स की बिक्री में तेजी आई है। नई दिल्ली की शिव नरेश स्पोर्ट्स एक लोकप्रिय स्पोर्ट्स कंपनी है और बॉलीवुड फिल्म ‘मैरी कोम’ के लिए आधिकारिक स्पोर्ट्स गियर भागीदार भी रह चुकी है। यह कंपनी स्पोर्ट्सवियर, स्पोर्ट्स शूज, सिंथेटिक ट्रैक, स्पोर्ट्स किट बैग, इलेक्ट्रॉनिक स्कोरबोर्ड और एलईडी डिसप्ले स्क्रीन के मान्यता प्राप्त निर्माता, प्रदायक और निर्यातकर्ता है।

 

‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌Graphics

 

चुनौतियां

 

                  जागरूकता लाना                 बाजार संगठित करना

 
   

 

 

कीमतें

 

‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌

आगामी चुनौतियां

भारतीय स्पोर्ट्सवियर बाजार में असंगठित क्षेत्र में आने वाली कंपनियों के बीच कुछ जाने-माने नाम हैं। छोटे शहरों में ऐसे ब्रांड्स हैं, जो सिर्फ अपने शहर तक ही सीमित हैं और उससे आगे विकसित नहीं हो रहे हैं। ऐसी कंपनियां खुद तो अपने प्रोडक्ट्स कम कीमतों में बेचती ही हैं, कुल भारतीय स्पोर्ट्सवियर बाजार को भी नीचे गिराने में भूमिका निभाती हैं। समय की मांग ये है कि भारतीय ब्रांड्स और अधिक संख्या में संगठित स्टोर्स शुरु करें और अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड्स की तरह मार्केटिंग और बिक्री की रणनीतियां अपनाएं। मुंबई स्थित सिल्वरट्रैक एक्टिव वियर ब्रांड की मालिक कंपनी क्वालिअंस इंटरनेशनल के प्रमुख कार्यकारी अधिकार, विपुल बदानी कहते हैं, “स्पोर्ट्सवियर एक विकसित हो रहा सेगमेंट है, जो पिछले कुछ् वर्षों में फिटनेस के प्रति जागरूक लोगों की बढ़ती संख्या के साथ अधिक लोकप्रिय हुआ है। सबसे बड़ी चुनौती खेलों और एक्टिविटीज में किस तरह के कपड़े पहनने को लेकर ग्राहकों में जागरूकता लाने की। परम्परागत रूप से लोग ये मानते आए हैं कि सूती कपड़े स्पोर्टिंग के लिए सबसे अच्छे हैं और इसीलिए खेल या वर्जिश के लिए अलग से कपड़े खरीदने में पैसे खर्च करना नहीं चाहते हैं, लेकिन स्पोर्ट्स और ट्रेनिंग परिधान अब विकसित होकर उनमें और परिष्कृत, उपयोगी कपड़े जैसे कि हमारे द्वारा बनाए गए ‘स्वेट मैनेजमेंट टेक्नॉलॉजी’ कपड़ों का समावेश हुआ है। इस प्रकार के कपड़े पसीना सोखते हैं, जल्दी सूख जाते हैं, रोग और बदबू पैदा करने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं का प्रतिरोध करके और ऐसे अन्य कई गुणों द्वारा आपकी परफॉर्मंस बढ़ाते हैं। इन कपड़ों के ये फायदे लोगों तक पहुंचाने चाहिए और इन्हें पहन कर उन्हें इसका अनुभव लेना चाहिए। हम लगातार अपनी वेबसाइट, सोशल मीडिया और ब्रांडिंग मटेरियल्स के जरिए इन विशेषताओं को लोगों तक लगातार पहुंचाते हुए स्पोर्ट्स और वर्कआउट के कपड़ों के बारे में जागरूकता फैलाते हैं।”

आगे की राहें

यूरोमॉनिटर की रिपोर्ट के मुताबिक, स्पोर्ट्सवियर अनुमानित समय में 12% CAGR से सशक्त रिटेल मूल्य दिखाते रहेंगे और 2020 तक उनकी बिक्री 540 बिलियन को छू लेना अनुमानित है। देश में हेल्थ और वेलनेस का रूझान, उच्च कालोनी समूह तथा इंटरनेशनल स्कूल्स की बढ़ती संख्या और फुटबॉल, क्रिकेट और बास्केटबॉल जैसे खेलों की बढ़ती लोकप्रियता, इन सबके कारण स्पोर्ट्सवियर की मांग बढ़ते रहने और बने रहने की उम्मीद है। भारतीय स्पोर्ट्सवियर ब्रांड्स के जाने-माने नामों में प्रोलाइन इंडिया, शिव नरेश स्पोर्ट्स, डिडा स्पोर्ट्स और हाल ही में लॉन्च हुए रितिक रोशन के एचआरएक्स का शुमार है। 

share button
टिप्पणी
user franchise india
emaili franchiseindia
mobile franchise india
address franchise india
franchiseindia star
संबंधित अवसर
  • Fine Dine Restaurants
    About Us: New-Age & Innovative Resto-Café with Robo Waiters Indian Swag was..
    Locations looking for expansion Gujarat
    Establishment year 2018
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 50lac - 1 Cr.
    Space required 300
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Ahmedabad Gujarat
  • Quick Service Restaurants
    About Us: Health bowl was founded by Mr. Vibhor Gupta in..
    Locations looking for expansion Haryana
    Establishment year 2018
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 10lac - 20lac
    Space required 250
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater Faridabad Haryana
  • Others Food Service
    About Us: The Fresh Meat Market is an online platform as..
    Locations looking for expansion Uttar pradesh
    Establishment year 2017
    Franchising Launch Date 2018
    Investment size Rs. 2lac - 5lac
    Space required 100
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit, Multiunit
    Headquater Noida Uttar pradesh
  • Facility Management
    About Us: Favorz is into 360 degree cleaning service which primarily..
    Locations looking for expansion Haryana
    Establishment year 2015
    Franchising Launch Date 2019
    Investment size Rs. 2lac - 5lac
    Space required 10
    Franchise Outlets -NA-
    Franchise Type Unit
    Headquater GURGAON Haryana
शायद तुम पसंद करोगे
Insta-Subscribe to
The Franchising World
Magazine
tfw-80x109
For hassle free instant subscription, just give your number and email id and our customer care agent will get in touch with you
email
mobile
OR Click here to Subscribe Online
Daily Updates
Submit your email address to receive the latest updates on news & host of opportunities
ज़्यादा कहानियां

Free Advice - Ask Our Experts

pincode
ads ads ads ads""